What is limit switch in electrical

What is limit switch in electrical:- नमस्ते दोस्तों आज के अपने इस पोस्ट में हम आपके लिए एक और मजेदार पोस्ट लाये है जो आपकी जानकरी को बढ़ाने में मदद करेगा। आज के अपने इस पोस्ट में हम आपको लिमिट स्विच क्या होता है (What is limit switch in electrical) के बारे में बतायेगे , साथ ही इसके उपयोग किन जगहों पर होता है , इसके बारे में भी बतायेगे।

What is Limit Switch

what is limit switch
(Limit switch क्या होता है?)

यह घरो में लगने वाले स्विच के तरह ही होता है। इस तरह के स्विच के सहायता से हम इलेक्टिकल से चलने वाले किसी भी उपकरण को नियंत्रित कर सकते है।इसका मुख्य उद्देश्य किसी भी उपकरण के मूवमेंट को देखते उसको कण्ट्रोल करना होता है।

उदाहरण के रूप में , यदि हम किसी कार का गेट ओपन कर देते है , उसके चलते हुए ,तो एक तरह से लाइट जलने लगती है जो यह बताती है की आपने गेट ओपन किया हुआ है। यह लिमिट स्विच ही होता है जो हमें इंडीकेट करता है।

यदि कोई विद्युत मोटर किसी वास्तु को एक तरफ से दूसरे तरफ लेकर जा रहा लेकिन हमें उस वास्तु को कही उतरना है , उसके लिए हमें मोटर को रोकना होगा , जिसके लिए लिमिट स्विच का इस्तेमाल किया जाता है।

Limit switch का उपयोग कहाँ किया जाता है?

  • लिमिट स्विच का इस्तेमाल अधिकतर कण्ट्रोल सिस्टम में ही किया जाता है .
  • इसका इस्तेमाल कार में सेफ्टी स्विच के रूप में किया जाता है .
  • लिमिट स्विच का बहुत अधिक उपयोग रोबोटिक्स   & मोटर कंट्रोल फंक्शन में भी काफी किया जाता है।
  • लिमिट स्विच मशीन को आटोमेटिक करने के लिए भी इस्तेमाल की जाती है .

Parts of limit switch

अब चलिए जानते है लिमिट स्विच के पार्ट्स के बारे में :-

  • लीवर
  • ऑपरेटिंग हैडर
  • कॉन्टेक्ट

Liver

लिवर जो की किसी भी लिमिट स्विच के बहार की तरफ ही लगा हुआ होता है। लिवर जो की हैडर से लगा हुआ रहता है। यदि कभी भी कोई भी वस्तु लिमिट स्विच के इस लिवर को प्रेस कर देता है तो उस समय लिमिट स्विच के अंदर लगे हुए कांटेक्ट ऑपरेट हो जाते है।

लिवर जो की तीन तरह के होते है :-

  • रोलर लिवर
  • स्प्रिंग वायर
  • प्लंजर

Operating Header 

जैसा की मैंने पहले बताया की लिमिट स्विच का लिवर इस ऑपरेटिंग हैडर के ऊपर लगा हुआ होता है, जिसके कारण जब कभी भी लिवर में कोई हलचल होगी तो उस समय यह ऑपरेटिंग हैडर कार्य करना प्रारम्भ कर देता है।

नोट : जब भी लिमिट स्विच के लिवर में मोमेन्ट होगा तो उस समय यह हैडर को ऑपरेट कर देता है। और इस तरह हैडर के कार्य करने से लिमिट स्विच के अंदर लगे NO NC कांटेक्ट भी कार्य करने लगते है।

जब कभी भी लिमिट स्विच के अंदर लगा स्विच जब ऑन ऑफ होता है तब उस समय हमें धीरे से एक आवाज भी सुनाई देती है। इस आवाज़ के मदद से ही हम फील्ड में काम करते समय यह समझ पाते है की यह लिमिट स्विच सही है नहीं। आप ध्यान देना जब भी लिमिट स्विच खराब होगा तो उसमे आपको आवाज़ सुनने को नहीं मिलेगी।

Contact 

कांटेक्ट लिमिट स्विच के अन्दर होते है , कांटेक्ट के साहयता से ही हम लिमिट स्विच में wiring कर पाते है। इन कांटेक्ट के अंदर ही कण्ट्रोल की वायरिंग की जाती है।किसी भी लिमिट स्विच के अंदर मुख्य तौर पर दो प्रकार के ही कॉन्टेक्ट होते है। जिनमे से एक NO होता है और दूसरा NC होता है।

Working Principle of limit switch (what is function of limit switch)

(what is function of limit switch)- जैसा की ऊपर पढ़े की किसी भी लिमिट स्विच में लिवर लगा हुआ होता है। और जब कोई उपकरण इसके टच में आता है, तो यह लिवर रोटेट हो जाता है। इसके रोटेट होने से लिमिट स्विच के अंदर लगा मिनी स्विच भी कार्य करना प्रारम्भ हो जाता है। किसी भी लिमिट स्विच के अंदर लगे मिनी स्विच में से एक NO और दूसरा एक NC कांटेक्ट होता है।

NC और NO कॉन्टेक्ट्स के बीच अंतर ?

NO contact :- NO contact में कोई भी स्विच नार्मल कंडीशन में ओपन होते है।नार्मल कंडीशन में स्विच ओपन रहते है, और जब energized होता है तो ये क्लोज्ड हो जाते है।

NC contact :- NC contact में कोई भी स्विच नार्मल कंडीशन में क्लोज्ड होते है।नार्मल कंडीशन में स्विच क्लोज्ड रहते है, और जब energized होता है तो ये ओपन हो जाते है।

Where is the limit switch used in Electrical

  • ऑटोमेशन के मशीन में
  • किसी भी वास्तु की उपस्थिति को जानने के लिए इस्तेमाल किया जाता है .
  • स्पीड को मापने में

Limit switches लगाने के फायदे :-

  • लिमिट स्विच बहुत ही अधिक सटीक होते है .
  • इनमे  एनर्जी कंसम्पशन लेवल बहुत कम होता है.
  • सेंसर से इनकी कीमत कम होती है .
  • आउटडोर यूनिट में भी इनका इस्तेमाल किया जा सकता है .

Limit switch के नुकसान :-

  • बहुत अधिक समय से इनके कार्यरत रहने पर खराब होने की संभावना होती है .
  • कभी कभी किसी भी चीज़ के अधिक रफ़्तार के कारण उसके मोशन को पकड़ने में गलती हो सकती है .

आखिरी कुछ शब्द इस पोस्ट के बारे में:-

आज के अपने इस पोस्ट में हमने लिमिट स्विच के बारे में बताया। ये पोस्ट आपकी जानकारी को बढ़ाने में लाभदायक होगा।

इस पोस्ट को पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद !!!!!

Read More :-

Follow on Google News

admin
adminhttps://www.gyantech.tech
यह एक हिंदी वेबसाइट है जो की ट्रेडिंग टॉपिक के साथ ही साथ एजुकेशनल पोस्ट को नियमित रूप से पब्लिश किया जाता है। इसकी शुरुवात साल २०२१ में हुआ है , तब से लेकर अब तक हम आप लोग के बीच बने हुए है। इस ब्लॉग के ओनर प्रेम मिश्रा है जो की बिहार के आरा जिला से सम्बंद रखते है। Contact us: ADMIN@GYANTECH.TECH
RELATED ARTICLES

Most Popular