सरकार ने जारी कर दिया है डिटेल ब्रीफ

अग्निपथ स्कीम के कारण बढ़े रहे विरोध प्रदर्शन के बीच सरकार ने इस स्कीम के बारे में डिटेल ब्रीफ जारी किया है।

इसमें वो सारी जानकारियां हैं, जो किसी भी अभ्यर्थी को जानना जरूरी है।

सेना की रेजिमेंटल प्रणाली में अग्निपथ स्कीम से कोई बदलाव नहीं होगा।

पहले साल में भर्ती होने वाली अग्निवीरों की संख्या कुल सशस्त्र सैन्य बलों का तीन प्रतिशत होगी।

स्कीम का लक्ष्य युवाओं के लिए सैन्य बलों में अवसर बढ़ाना है।

इसके तहत सशस्त्र सेना में मौजूदा एनरोलमेंट से करीब तीन गुना सैनिकों की भर्ती होगी।

चार साल की सेवा पूरी होने पर 25 प्रतिशत को नियमित सेवा में रखा जाएगा,

राष्ट्रीय मुक्त विद्यालयी शिक्षा संस्थान (एनआईओएस) रक्षा अधिकारियों के साथ विचार-विमर्श कर 10वीं कक्षा पास कर

अग्निपथ सेवा में आने वाले अग्निवीरों को 12वीं का प्रमाणपत्र प्रदान करने के लिए एक विशेष प्रोग्राम तैयार करेगा।

इसके तहत अग्निवीरों के लिए विशेष रूप से तैयार कोर्स शुरू किए जाएंगे जो उनके सेवा क्षेत्र के हिसाब से प्रासंगिक होगा।