Haldi dudh pine ke fayde in hindi।11 हल्दी दूध के फायदे और नुकसान

Haldi Dudh Pine Ke Fayde In Hindi-आज के पोस्ट का विषय हल्दी दूध के फायदे और नुकसान के बारे में है।हल्दी वाले दूध को गोल्डन दूध भी कहा जाता है। हल्दी दूध जिसको अनेक बीमारियों के उपचार करने के साथ ही अनेक सामान्य स्वास्थ्य के उपचार के लिए भी भारत में इस्तेमाल किया जाता है।हल्दी जिसको आयुर्वेदिक दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। 

हल्दी दूध जो की हमारी हड्डियों को भी मजबूत करता है।दूध में जब हल्दी को मिलाया जाता है तो ,यह एक शक्तिशाली मिश्रण बनाता है जो की कई स्वास्थ्य लाभ के साथ ही सौंदर्य  के लिए भी फायदेमंद होते हैं। हल्दी दूध जिसके इस्तेमाल से सूजन की समस्या से छुटकारा मिलता है।

हल्दी दूध में एंटी-ऑक्सीडेंट के गुण भी पाए जाते हैं।  जिसके प्रभाव से इसके इस्तेमाल से स्वास्थ्य सम्बंदित अनेक लाभ भी होते हैं।कुछ ऐसे लोग भी हैं,जिनको हल्दी-दूध का सेवन नहीं करना चाहिए।कुछ विशेष परिस्थितियों में हल्दी शरीर के लिए नुकसानदायक भी साबित हो सकती है।अनेक ऐसे शोध  में यह बात मालूम होता है कि हल्दी का ज्यादा इस्तेमाल करने से त्वचा में रूखापन आता है और इसके साथ ही त्वचा में खुजली भी उत्पन्न हो जाती है। 

Turmeric Nutritional Value in Hindi

पौष्टिक तत्वप्रति 100 ग्राम
पानी12.85 ग्राम
एनर्जी312 केसीएल
प्रोटीन9.68 ग्राम
टोटल लिपिड (फैट)3.25 ग्राम
ऐश7.08 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट67.14 ग्राम
फाइबर, टोटल डायटरी22.7 ग्राम
शुगर, टोटल इंक्लूडिंग एनआईए (NLEA)3.21ग्राम
कैल्शियम168 मिलीग्राम
आयरन55 मिलीग्राम
मैग्नीशियम208 मिलीग्राम
फास्फोरस299 मिलीग्राम
पोटेशियम2080 मिलीग्राम
सोडियम27 मिलीग्राम
जिंक4.5 मिलीग्राम
कॉपर1.3 मिलीग्राम
विटामिन सी, टोटल एस्कॉर्बिक एसिड0.7 मिलीग्राम
फैटी एसिड, टोटल ट्रांस-मोनोएनिक0.056 ग्राम
विटामिन ई (अल्फा-टोकोफेरॉल)4.43 मिलीग्राम

हल्दी दूध के फायदे (Haldi Dudh Pine Ke Fayde In Hindi)

Haldi dudh pine ke fayde in hindi

चोट लग जाए (Haldi Dudh Pine Ke Fayde In Hindi)

जब कभी हमारे शरीर के बाहरी या अंदरूनी हिस्से पर चोट लग जाए, तो हल्दी वाला दूध उसे जल्द से जल्द ठीक करने में बहुत लाभदायक होता है। हल्दी दूध जिसमे एंटी बैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण पाए जाते है उनके वजह से यह बैक्टीरिया को पनपने नहीं देता।

शरीर के दर्द में (Haldi ka dudh Peene ke fayde)

हल्दी दूध पीने से शरीर के दर्द में भी बेहद आराम देता है।शरीर के अन्य भागों के साथ हाथ और पैर में दर्द होने पर आप रात को सोने से पहले हल्दी वाले दूध का सेवन कर सकते है। इससे आपके शरीर के दर्द में आराम मिल जायेगा। 

त्वचा की समस्याओं (Haldi Dudh Pine ke fayde For Skin)

दूध के साथ हल्दी का सेवन,जिसमे की  एंटीसेप्टिक व एंटी बैक्टीरियल के गुण होते है उसके कारण त्वचा की समस्याओं जैसे – इंफेक्शन, खुजली, मुंहासे आदि के बैक्टीरिया को भी धीरे-धीरे खत्म कर देता है। जिस कारण से आपकी त्वचा साफ और स्वस्थ के साथ ही चमकदार भी  नजर आती है।

सर्दी, जुकाम या कफ होने

आज के समय में सर्दी, जुकाम या कफ का होना बहुत ही परेशानी की बात है।सर्दी, जुकाम या कफ होने पर भी आप अगर हल्दी वाले दूध का इस्तेमाल करते है तो वह बहुत ही अधिक लाभकारी होता है। इसके प्रभाव के कारण  सर्दी, जुकाम तो ठीक होता ही है, साथ ही गर्म दूध के सेवन से फेफड़ों में जमा हुआ कफ भी बाहर निकल जाता है। सर्दी के मौसम में इसका नियमित इस्तेमाल करना आपको स्वास्थ लाभ प्रदान करेगा। 

हड्डी संबंधि‍त समस्याओं में

दूध जिसमे की कैल्श‍ियम होता है।कैल्श‍ियम जो की हड्डियों को बहुत ही मजबूत बनाता है और हल्दी दूध का सेवन करने से हल्दी के गुणों के कारण रोगप्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है। इससे हड्डी संबंधि‍त अन्य समस्याओं में भी राहत मिलती है। 

नींद नही आने की समस्या से (haldi wala doodh ke fayde )

आज के समय में बहुत से लोगो को रात में नींद नहीं आती है ,इस तरह के लोगो के लिए सबसे अच्छा घरेलू नुस्खा है, हल्दी वाला दूध।आपको रात के समय भोजन के बाद सोने के आधे घंटे पहले हल्दी वाला दूध पीएं, और नींद नही आने की समस्या से राहत मिलेगा। 

पेट के समस्याओं में भी राहत

हल्दी वाले दूध का सेवन नियमित रूप से करने से पेट के अल्सर, डायरिया, अपच, कोलाइटिस एवं बवासीर जैसी समस्याओं में भी राहत मिलता है। 

गठिया- बाय, जकड़न की समस्या

हल्दी दूध का सेवन नियमित रूप से करने से, गठिया- बाय, जकड़न की समस्या भी दूर हो जाती है, साथ ही जोड़ों मांसपेशियों को भी यह लचीला बनाता है।

ब्लड शुगर को कम करने में

ब्लड शुगर जिसका मुख्य कारण खून में शर्कर की मात्रा ज्यादा होना होता है।हल्दी वाले दूध का नियमित रूप से सेवन करने से ब्लड शुगर को कम करने में मदद करता है।लेकिन बहुत ही अत्यधि‍क मात्रा में सेवन करने से शुगर की मात्रा अत्यधि‍क कम भी हो सकती है, कृपया इस बात का भी ध्यान रखें।

सांस की समस्या में भी

हल्दी दूध में मौजूद एंटी माइक्रो बैक्टीरियल गुण, दमा, ब्रोंकाइटिस, साइनस, फेफड़ों में जकड़न व कफ से राहत देने में सहायता करते हैं। गर्म दूध के सेवन से शरीर में भी गर्मी का संचार होता है जिससे सांस की समस्या में भी बहुत हद तक काफी आराम मिलता है।

वायरल संक्रमण में

मौसम के बदलाव के कारण होने वाले वायरल संक्रमण में हल्दी वाला दूध सबसे बेहतर उपाय है, यह आपको संक्रमण से भी बचाता है।

हल्दी दूध पीने के नुकसान के बारे में (Haldi wala doodh ke fayde aur Nuksan)

1. पित्ताशय में समस्या
यदि आपको पित्ताशय से जुड़ी कोई परेशानी है तो हल्दी वाला दूध आपकी इस समस्या को और बढ़ा सकता है। यदि आपकी पित्त की थैली में स्टोन है तो आपको हल्दी वाला दूध भूलकर भी नहीं पीना चाहिए।

2. ब्लीडिंग की समस्या
यदिआपको ब्लीडिंग की समस्या है तो हल्दी वाला दूध आपको नुकसान पहुंचा सकता है। ये ब्लड क्लॉटिंग की प्रक्रिया को कम कर देता है जिसके कारण ब्लीडिंग की समस्या और ज्यादा बढ़ सकती है।

3. मधुमेह की स्थिति में
हल्दी में करक्यूमिन नाम का एक रासायनिक पदार्थ पाया जाता है। जो ब्लड शुगर को प्रभावित करता है। ऐसे में यदि आपको मधुमेह है तो हल्दी वाला दूध पीने से बचना चाहिए।

4.एलर्जी
कुछ लोगों को मसालों से एलर्जी होती है। ऐसे में उन्हें हल्दी का प्रयोग भी नहीं करना चाहिए। हल्दी वाला दूध एलर्जी को और भी बढ़ा सकता है।

5.सर्जरी के दौरान
हल्दी खून का थक्का नहीं जमने देता है जिसके कारण खून का स्त्राव बढ़ जाता है। यदि आपकी सर्जरी हुई है या फिर होने वाली है तो हल्दी के सेवन से बचें।

हल्दी दूध को बनाने का तरीका (How To Make Haldi Dudh)

  • 1चम्मच हल्दी का पाउडर
  • दूध का 1 गिलास 
  • शहद

बनाने की विधि-
सबसे पहले एक पैन में एक हल्दी को डालें।थोड़े देर के बाद इसमें दूध को मिलाएं और करीब 10 से 15 मिनट तक उबालें।अगर आपको अपने स्वाद के अनुसार चाहें तो आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं। अब इसे छान लें और एक गिलास में डाल लें।इसको गरमा-गर्म ही पिएं।

निष्कर्ष (Last Words on This Post)

इस पोस्ट के माध्यम से मैंने आपको  Haldi Dudh Pine Ke Fayde In Hindi / Haldi wala doodh ke fayde aur Nuksan के विषय में बताया आशा करते है आपको ये पोस्ट पसंद आई होगी। पसंद आने पर अपने दोस्तों के साथ भी इस पोस्ट को जरूर शेयर करे ताकि उनको भी हल्दी दूध के फायदे के साथ ही नुकशान का जानकारी हो जाये। 

Few More Question and answer on Haldi dudh

हल्दी वाले दूध के क्या क्या फायदे हैं?

apne इस पोस्ट के ऊपर में हल्दी दूध पिने के फायदे को बताया है , फिर भी एक बार कुछ फायदे को बता देता हु , हल्दी दूध के फायदे चोट लगने पर , स्किन के लिए , दर्द से आराम दिलाने के लिए , आदि अनेक समस्याओ के लिए किया जाता है , कृपया पोस्ट को पढ़े पूरा ।

क्या हल्दी वाला दूध रोज पीना चाहिए?

दूध पीने के बजाय अगर इसमें हल्दी डालकर पीया जाए तो इसके गुणों में बढ़ोतरी हो जाती है।

हल्दी वाला दूध कैसे पीना चाहिए?

सबसे पहले एक पैन में एक हल्दी को डालें।थोड़े देर के बाद इसमें दूध को मिलाएं और करीब 10 से 15 मिनट तक उबालें।अगर आपको अपने स्वाद के अनुसार चाहें तो आप इसमें शहद भी मिला सकते हैं। अब इसे छान लें और एक गिलास में डाल लें।इसको गरमा-गर्म ही पिएं।

क्या दूध पीने से वजन बढ़ता है?

दूध पीने से वजन बढ़ता नहीं, कम होता है।

दूध कैसे पीना चाहिए खड़े होकर या बैठकर?

खड़े होकर दूध पीने से शरीर को इसका पूरा लाभ मिलता है ,पित्त और कफ संतुलित रहता है ।

Read More on Gyantech

1Ginger Khane ke Fayde । Adrak khane ke fayde
2Gajar khane ke fayde in hindi । Carrot khane ke fayde
3Hair Loss Kaise Roke । बालो का झड़ना कैसे रोके
4Benefits Of Black Raisins In Hindi – काली किशमिश के 11 फायदे और नुकसान
किसी भी तरह के बीमारी में इस्तेमाल करने या किसी भी बीमारी को ठीक करने के लिए इसका इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर  की सलाह जरूर ले ।
Tap To Follow Us on Google News 

Leave a Comment

Haldi Dudh Peene ke Fayde
Haldi Dudh Peene ke Fayde