25 रोचक जानकारी गौरैया के बारे में । About Sparrow in Hindi

about sparrow in hindi- आज के समय में SPARROW को देखना दुर्लभ हो गया है। कभी एक समय था जब  इनके झुंड आसानी से देखे जा सकते थे। SPARROW पक्षी है जिसको हिंदी में गौरैया (gauraiya chidiya) कहा जाता है। आज के समय में इस चिड़िया को हमसभी को विलुप्त होने से बचाना है । आज इनके गायब होने के कीटनाशक और मोबाइल टावर को जिम्मेदार माना जाता है।आप सभी का मेरे इस वेबसाइट जिसका नाम gYANTECH पर हार्दिक अभिनंदन है। आज के इस पोस्ट में हम आपको sparrow information in hindi- के बारे में बतायेगे ।

25 रोचक जानकारी गौरैया के बारे में : about sparrow in hindi
about sparrow in hindi – goriya chidiya

about sparrow in hindi :

आज इस पोस्ट के माध्यम से कुछ रोचक जानकारी गौरैया पर देने का प्रयास करता हूँ। इस चिड़िया को दुनिया के सबसे छोटे चिड़िया के श्रेणी में रखा जाता है । इस चिड़िया के लम्बाई 18CM- तक होती है । छोटे आकर के होने के कारण ये अधिक उचाई तक नहीं उड़ पाती है ।जैसा हम सभी जानते है आज के समय में गांव में  तादात अधिक है शहर के अपेक्षा में । ये चिड़िया एशिया और यूरोप महाद्वीप में अधिक मात्रा में पाया जाता है । ये चिड़िया हमेशा झुंड में पाई जाती है । आपने भी देखा होगा , गौरैया एक 2 के झुंड में आसमान में उड़ते आपने भी देखा होगा ।

गौरैया

कुछ रोचक जानकारी गौरैया पर : about sparrow in hindi

  • साल २०१० से इसकी कम होती संख्या को देखते दुनिया के अनेक जगहों पर ‘world sparrow day’ 20 मार्च को मनाया जाता है।जो की इसके घटते संख्या के लिए चिंताजनक इस्थिति को वयक्त करने के लिए मनाया जाता है।  
  • इनकी कुल 43 प्रजातियां मौजूद है।
  • ये खतरे के समय 50 km/hr की तेज़ गति से उड़ सकते है ,लेकिन औसत तौर पर ये ३५ km /hr की रफ़्तार से उड़ते है। 
  • साल 2013 में बिहार ने इसे अपना राजकीय पक्षी घोषित किया  जो की घरेलू गौरया संरक्षण के लिए किया गया था। 
  • बिहार से पहले दिल्ली ने  गौरेया को अपना राजकीय पक्षी घोषित किया था। 
  • नर और मादा को इनके कलर के आधार पर पहचाना जा सकता है।नर के गले में काली पट्टी होती है जबकि मादा की पट्टी भूरे रंग की होती है। 
  • यह बहुत ही छोटी पक्षी है। इसका वजन 20 से 40 ग्राम तक होता है।  
  • अधिकांश गोरैया जरूरत से ज़्यदा ही सुस्त होते है वे अपने जन्म के जगह से 2km से ज़्यदा शायद ही उड़ते है।
  • एक मादा गौरेया एक साल में 3 से 5 अंडे देती है। इनके बच्चे 15 दिन में ही अपने घोसले छोर देते है। वे इतने सक्षम हो जाते है। 
  • वे अपने तनाव को कम करने के लिए अपनी पूछ को बार बार झटकते है। 
  • इनके अंडे के डीएनए में ज़्यदा तौर पर मादा के डीएनए होते है। 
  • घोसला बनाने की जिम्मेदारी नर गौरेया की होती है। 
  • 1950 के दशक में चीन में गौरेया को मारने का अभियान चला था ,क्योकि ये फसल खा जाते थे। 
  • ये मांशाहारी होते है ये ज़्यदा तर कीड़े कहते है। 
  • ये ज़मीन पर सीधा नहीं चलते बल्कि उछल उछाल के चलते है। 
  • इसका वैज्ञानिक नाम पारस डोमेस्टिकस है। 
  • ये 20000 फ़ीट तक की उचाई तक उड़ सकते है। उस समय इनके साँस लेने की गति दोगुनी तथा शरीर का तापमान 2 डिग्री तक कम हो जाता है ऐसा एक शोध में अध्य्यन में मालूम हुआ।  

निष्कर्ष

इस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको SPARROW IN HINDI ,amazing fact about sparrow in hindi , के साथ उससे जुडी जानकारी प्राप्त करवाया है और भी कुछ अगर जानना हो तो आप कमेंट बॉक्स में कमेंट कर पूछ सकते है और अगर आपको यह पोस्ट पसंद आया हो तो कृपया करके फॉलो और शेयर करे।अभी हाल में 20- मार्च को हमने गौरेया दिवस के रूप में मनाया । इस तरह के रोचक पोस्ट को पढ़ने के जुड़े हमसे । गूगल न्यूज़ के माध्यम से ।

rEAD mORE ON gYANTECH

Leave a Reply